महाराष्ट्र ने अब कई देशों को भी पीछे छोड़ा, कोरोना मरीजों की संख्या एक लाख पार

महाराष्ट्र में पहला कोरोना केस मिलने के 96 दिन बाद मरीजों की संख्या एक लाख की सीमा पार कर गई। शुक्रवार को प्रदेश में कोरोना के 3, 493 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही प्रदेश में कुल

महाराष्ट्र में पहला कोरोना केस मिलने के 96 दिन बाद मरीजों की संख्या एक लाख की सीमा पार कर गई। शुक्रवार को प्रदेश में कोरोना के 3, 493 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 1, 01, 141 हो गई। लाखों मामलों के साथ महाराष्ट्र भारत में कोरोना से प्रभावित राज्यों में शीर्ष पर है। इसके बाद तमिलनाडु का नंबर है, जहां कोरोना मामलों की संख्या 50 हजार का आंकड़ा पार करने वाली है।
महाराष्ट्र में कोरोना का पहला मामला आज से 96 दिन पहले सामने आया था, जब पुणे का एक कपल दुबई से छुट्टियां बिताकर वापस लौटा था। कपल को कोरोना से संक्रमित पाया गया था। तब से लेकर आज तक राज्य में कोरोना के मामले अप्रत्याशित रूप से बढ़े हैं। शुक्रवार तक प्रदेश में कोरोना के कुल 1,01, 141 मामले दर्ज किए गए। हालात ये हैं कि अगर महाराष्ट्र एक देश होता तो कोरोना के मौजूदा आंकड़ों के आधार पर वैश्विक तालिका में इसे 17वां स्थान हासिल होता। यह परिस्थिति महाराष्ट्र में कनाडा और चीन जैसे देशों से भी बदतर हालात की गवाही है।


आंकड़ों के मुताबिक, महाराष्ट्र में पहले 50 हजार मामलों के आने में काफी वक्त लगा था। पहले 50 हजार के आंकड़े तक पहुंचने के लिए प्रदेश को 77 दिन लगे थे लेकिन अगले 50 हजार का आंकड़ा सिर्फ 19 दिनों में पार हो गया। लॉकडाउन हटने के बाद जून के पहले 12 दिन में ही प्रदेश में 30 हजार कोरोना के नए मामले दर्ज किए गए। प्रदेश में कोरोना से होने वाली मौतों के आंकड़े भी डरा रहे हैं। शुक्रवार को 127 लोगों ने महाराष्ट्र में कोरोना से जान गंवाई। इसके बाद प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 3 हजार 717 हो गई।

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग