आरा में पत्रकार की सड़क हादसे में मौत, मचा कोहराम

बिहार के भोजपुर जिले के गड़हनी थाना क्षेत्र के बगवां रेलवे क्रॉसिंग के समीप गुरुवार की रात खड़े कंटेनर में कार ने जोरदार टक्कर मार दी. इस हादसे में पत्रकार सहित दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. घटना के बाद

पटना। बिहार के भोजपुर जिले के गड़हनी थाना क्षेत्र के बगवां रेलवे क्रॉसिंग के समीप गुरुवार की रात खड़े कंटेनर में कार ने जोरदार टक्कर मार दी. इस हादसे में पत्रकार सहित दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने थानाध्यक्ष पर कार्य में लापरवाही बरतने एवं मृतकों को मुआवजा देने की मांग को लेकर आरा-सासाराम स्टेट हाई-वे पर बगवां रेलवे क्रॉसिंग के समीप शवों को सड़क के बीचों-बीच रख आगजनी की और सड़क जाम कर दिया. सड़क जाम होने के कारण घंटों आवागमन बाधित रहा और वाहनों की लंबी कतार लग गई.

 पत्रकार गड़हनी थाना क्षेत्र के बराप गांव निवासी सत्येंद्र सिंह का 30 वर्षीय पुत्र कुणाल सिंह है जबकि दूसरा मृतक राइस मिल मालिक उसी थाना क्षेत्र के धमनिया गांव निवासी सुरेंद्र शुक्ला का 30 वर्षीय पुत्र गौरी शंकर शुक्ला है.

मृतक कुणाल सिंह के बड़े भाई विशाल सिंह ने बताया कि वह दोनों गुरुवार की शाम आरा शहर के निजी होटल में एक बर्थडे पार्टी समारोह में शामिल होने गए थे. वापस लौटने के दौरान वे लोग गड़हनी पहुंचे. जिसके बाद गौरी शंकर शुक्ल अपने दोस्त कुणाल सिंह को उनके घर छोड़ने बराप जा रहे थे. इसी दौरान बगवां रेलवे क्रासिंग के समीप खड़े कंटेनर में की कार ने टक्कर मार दी. हादसे में दोनों की मौके पर ही मौत हो गई.
ग्रामीणों ने स्थानीय थाना इंचार्ज पर कार्य में लापरवाही बरतने के लिए उन पर विभागीय कार्रवाई करने एवं मृतकों को मुआवजा देने की मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया. ग्रामीणों का आरोप है कि दो दिन पूर्व से ही यह एक्सीडेंटल कंटेनर रेलवे क्रासिंग के समीप पड़ा है. लगातार हमलोगों ने इसकी शिकायत स्थानीय थाना इंचार्ज से भी की थी.
 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग