पत्रकार नेहा दीक्षित मामले की IFJ ने की जांच की मांग

नई दिल्ली। अपनी खोजी रिपोर्टिंग के लिए जानी-मानी पत्रकार नेहा दीक्षित ने 27 जनवरी को बताया था कि उन्हें और उनके साथी, फिल्म निर्माता नकुल सिंह साहनी को सितंबर 2020 से कई तरह की धमकियां, मिल रही है।  इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स (IFJ) और भारतीय सहयोगी भारतीय पत्रकार संघ (IJU) ने इन हमलों की कड़ी निंदा की है और इसकी जांच की मांग की है।

नई दिल्ली। अपनी खोजी रिपोर्टिंग के लिए जानी-मानी पत्रकार नेहा दीक्षित ने 27 जनवरी को बताया था कि उन्हें और उनके साथी, फिल्म निर्माता नकुल सिंह साहनी को सितंबर 2020 से कई तरह की धमकियां, मिल रही है।  इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स (IFJ) और भारतीय सहयोगी भारतीय पत्रकार संघ (IJU) ने इन हमलों की कड़ी निंदा की है और इसकी जांच की मांग की है।

 

एक बयान में दीक्षित ने बताया कि  25 जनवरी की रात लगभग 9 बजे, एक अज्ञात व्यक्ति ने दिल्ली में उसके घर में घुसने का प्रयास किया।यह घटना सितंबर 2020 की है। उन्होंने बताया कि अज्ञात समूह द्वारा बलात्कार, एसिड हमले सहित उत्पीड़न  की धमकियां दी जा रही है। बयान के अनुसार, दीक्षित ने कहा कि धमकियां पूरी तरह से एक पत्रकार के रूप में उनकी भूमिका से संबंधित थीं। उसे धमकाने के लिए कई मोबाइल नंबर और अलग-अलग आवाजें इस्तेमाल की गईं। उसने आगे कहा कि वे लोग उसके साथी को भी निशाना बनाते हैं।
 
दीक्षित को सितंबर 2020 में पहला टेलीफ़ोन धमकी मिली जबकि एक बाज़ार में। अज्ञात आवाज में धमकी दी गई। इस बाबात  दीक्षित ने स्थानीय पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।
 
दीक्षित, जिनकी कहानियाँ द न्यू यॉर्क टाइम्स, अल-जज़ीरा, कारवां और द वायर में प्रकाशित हुई हैं, को असम में महिला तस्करी और मुज़फ्फरनगर दंगों के दौरान अल्पसंख्यक महिलाओं के खिलाफ लिंग आधारित हिंसा के बारे में उनकी ज़मीनी-खोजी जाँच कहानियों के लिए जाना जाता है।
 

जनसत्ता एक्सप्रेस एक स्वतंत्र मंच है। जहां आपको अपनी बात रखने की, अपने विचार रखने की, अपने जज्बात रखने की खुली छूट है। पर एक बात यहां साफ कर दें कि पत्रकारिता के भी कुछ मूलभूल सिद्धांत हैं जिससे परे हम लोग भी नहीं। पर आप जनसत्ता एक्सप्रेस के साथ किसी भी रूप में जुड़ना चाहते हैं तो आपका स्वागत है। हम या आपको उतना ही आदर देंगे, सम्मान देंगे जितना अपने सहकर्मी को। इसलिए आप अपने क्षेत्र की खबरें, वीडियो हमें शेयर करें। हम उन्हें जनसत्ता एक्सप्रेस पर प्रकाशित करेंगे। इसके लिए आप jansattaexp@gmail.com का उपयोग कर सकते हैं। या फिर हमें आप whatsup भी 7678313774 पर कर सकते हैं। फोन तो आप कर ही सकते हैं। इसलिए एक नेक काम के लिए, पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए हमारे साथ, हमारी टीम का हिस्सा बनिए और स्वतंत्र पत्रकार, फोटोग्राफर, स्तंभकार के रूप में अपने अंदर के पत्रकार को जिंदा रखिए। हमारी टीम तो आपके साथ है ही।

राजेश राय, संपादक, जनसत्ता एक्सप्रेस

ट्रेंडिंग